• 98140-03681, 9814003652, 0181-4692000 (Extensions 30-52)

11 Dec

सेंट सोल्जर इंस्टीच्यूट ऑफ़ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी में युवा इंजीनियर्स द्वारा पवन चक्की (वाइंड टरबाइन) का वर्किंग मॉडल तैयार किया गया। इलेक्ट्रीकल इंजीनियरिंग के सातवें समैस्टर के छात्रों शुभम, हरकीरत, रवनीत, अमनदीप, बलजीत, अविनाश, हर्ष, लखवीर, साहित, जसवीर, विकास, मलकीत आदि ने बताया कि प्रिंसिपल डॉ.गुरप्रीत सिंह सैनी और एच.ओ.डी इंदरदीप के दिशा निर्देशों पर इस पवन चक्की के मॉडल को 4 माह में तैयार किया गया है जिसकी कीमत 85,000 रुपए है। इस पवन चक्की के वर्किंग मॉडल का उद्घाटन ग्रुप के प्रो-चेयरमैन प्रिंस चोपड़ा द्वारा किया गया जिनका स्वागत एम.डी मनहर अरोड़ा और डॉ.गुरप्रीत सिंह द्वारा किया गया। छात्रों ने बताया कि ये पवन चक्की एक साधारण सिद्धांत के तहत काम करती है। ये प्रोजैक्ट 500 वाट ऊर्जा पैदा करने के सक्षम है। इस टावर की ऊंचाई ज़मीन से 25 फ़ीट है और पवन चक्की के हर एक बलेड की लंबाई 5 फ़ीट तक है। बलेड के वज़न को कम करने के लिए इसे लकड़ी का बनाया गया है पर ये ज्यादा ऊर्जा पैदा करते है। पवन चक्की के रूटर को गीयरबॉक्स की मदद से जेनरेटर से जोड़ा गया है तांकि मर्जी की स्पीड पैदा की जा सके। इस प्रोजैक्ट का पूरा भार 260 किलोग्राम है। चेयरमैन अनिल चोपड़ा और वाईस चेयरपर्सन श्रीमती संगीता चोपड़ा ने छात्रों को बधाई देते हुए प्रोजेक्ट की सराहना की।